कांग्रेस नेता अभीष्ट ने बताया,अमेठी में कांग्रेस क्यों हारी

0
475

अमेठी-हार के बाद नई नई बातें निकलकर आ रही हैं अमेठी के कार्यकर्ता और स्थानीय नेता अभीष्ट विक्रम ने खुद लिखकर अपना दर्द बयां किया है और कहा है किस तरह से अमेठी में कांग्रेस हर गई
आइये जानते हैं कि आखिर अभीष्ट ने लेटर में क्या लिखा है

मुख्य बातें-

अमेठी में सांसद प्रतिनिधि पर लगाया गंभीर आरोप,राहुल-प्रियंका गांधी से नहीं मिलने देते सांसद प्रतिनिधि,अमेठी के कांग्रेस जिलाध्यक्ष पर भी लगाया आरोप,विधानसभा के कोआर्डिनेटर और प्रभारी पर भी आरोप,कार्यालय में आई जनता से होता हैं दुर्व्यवहार-अभीष्ट जनता को राहुल-प्रियंका से नहीं मिलने दिया जाता-अभीष्ट ‘चाटुकार लोगों को ही राहुल गांधी के पास रखा जाता है’

आप सब तो परिवार के बब्बरशेर है आप ने संसाधनो के आभाव में वर्तमान समय में विपक्ष के हर प्रयासो को विफल करते हुए राहुल जी को चार लाख से अधिक मत प्रदान कराने का जो अभूतपूर्व कार्य किया है उसके लिए कांग्रेस परिवार सदा आभारी रहेगा ।
हाँ,यह सत्य है कि हमें थोड़ी और मेहनत करने की आवश्यक्ता थी जो हम नही कर पाये, कुछ और कंधो पर भरोसे का हाथ रखना था जिससे हम चूके, हमारी आवाज शायद गांव तक नही पहुँची जिसका प्रमुख कारण था संसाधनो का आभाव । 
सांसद प्रतिनिधि,  अमेठी के जिला अध्यक्ष विधान सभा के क्वाडीनेटर व प्रभारी द्वारा अपने दायित्वो का पूर्ण रूप से निर्वाहन न किया जाना ही चुनाव हार का प्रमुख कारण रहा ।

हम इस सत्य से भी विमुख नही हो सकते कि –
अमेठी में सांसद प्रतिनिधि, अमेठी के जिला अध्यक्ष विधान सभा के क्वाडीनेटर व प्रभारी सहित कार्यालय के कर्मचारी द्वारा अमेठी की जनता के साथ निरन्तर दुर्व्यवहार किया जाता रहा है, स्वंय की चाटुकारिता करने वाले व्यक्तियों को छोड़ कर कांग्रेस के सम्मानित कार्यकर्ताओं और आम नागरिकों को राहुल भइया व प्रियंका दीदी जी से न मिलने देने का पूर्ण प्रयास किया जाता रहा है ।
राहुल भइया व प्रियंका दीदी जी के सामने ऐसे व्यक्ति को रखने का प्रयास किया जाता रहा जो इनके पक्ष में महौल बनाने का कार्य करते रहे ।
सांसद प्रतिनिधि, अमेठी के जिला अध्यक्ष विधान सभा के क्वाडीनेटर व प्रभारी सहित कार्यालय के कर्मचारी द्वारा बूथ अध्यक्षो से सदा बूथ जिताने की अपेक्षा की जाती रही परन्तु उनके वार्ड की,ग्राम सभा की समस्याओं के निदान की बात को छोड़िये, पूछने तक की भी जरुरत नही समझी जाती थी ।
सांसद निधि का उपयोग करते समय सांसद प्रतिनिधि, अमेठी के जिला अध्यक्ष विधान सभा के क्वाडीनेटर व प्रभारी सहित कार्यालय के कर्मचारी द्वारा कभी भी बूथ अध्यक्षो से क्षेत्र की समस्यानुसार प्रस्ताव नही मांगा गया,मनमाने ढंग से अपने चहेते लोगो को सांसद निधि का लाभ दिया जाता रहा ।
सांसद निधि का उपगो करते समय सांसद प्रतिनिधि, अमेठी के जिला अध्यक्ष विधान सभा के क्वाडीनेटर व प्रभारी सहित कार्यालय के कर्मचारी शायद यह भूल जाते थे कि वोट बूथ, ग्राम व न्याय पंचायत अध्यक्ष के माध्यम से मिलता है और क्षेत्र के लोग अपनी समस्या के समाधान हेतु भी उन्ही के पास जाते है जिसके निवेदन पर अपने अमूल्य मत का दान कांग्रेस के पक्ष में करते है ।
आप सभी साथी निश्चिंत रहे ….

सांसद प्रतिनिधि,  अमेठी के जिला अध्यक्ष विधान सभा के क्वाडीनेटर व प्रभारी सहित कार्यालय के कर्मचारी की भूमिका    की भी जाँच हेतु हम सब शीर्ष नेतृत्व से आग्रह करेगें, इनके द्वारा मंच से वरिष्ट कांग्रेसी कार्यकर्ताओं और आमजन को अप    मानित करने का जो घृणित कार्य किया जाता रहा है वह किसी से छिपा नही है । 

चुनाव हार का कारण सांसद प्रतिनिधि, अमेठी के जिला अध्यक्ष विधान सभा के क्वाडीनेटर व प्रभारी है जिनके द्वारा पार्टी के शीर्ष पद पर रहते हुए विपक्षी पार्टी से मिले होने का आरोप जिला पंचायत चुनाव से लेकर वर्तमान तक देखने को मिलता रहा है ।
अमेठी इस तथ्य से अवगत है कि आप सभी साथी कंधे से कंधा मिलाकर अमेठी के लोगो के साथ ऐसी स्थिति में भी मजबूती के साथ निःस्वार्थ भाव से खड़े है ।
आपके इस जज्बे को हम सलाम करते हैं।

अभीष्ट विक्रम सिंह एडवोकेट उच्च न्यायालय लखनऊ प्रदेश सचिव उत्तर प्रदेश काँग्रेस कमेटी मानवाधिकार विभाग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.