सुलतानपुर-नामांकन पत्रों की जांच पूर्ण, 08 प्रत्याशी के नामांकन पत्र खारिज

0
306

सुल्तानपुर।जिले में 38-सुलतानपुर संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के लिये दाखिल 23 नामांकन पत्रों की जांच आयोग द्वारा नियुक्त सामान्य प्रेक्षक विनोद कुमार सिंह की उपस्थिति में आज रिटर्निंग आॅफिसर, दिव्य प्रकाश गिरि ने की। दाखिल नामांकन पत्रों में से 08 नामांकन पत्र पूर्ण न होने के कारण निरस्त कर दिया गया। इस प्रकार 38-सुलतानपुर संसदीय निर्वाचन क्षेत्र से 15 प्रत्याशियों के नामांकन पत्र पूर्ण व सही पाये गये।
जिला निर्वाचन अधिकारी व रिटर्निंग आॅफिसर ने बताया कि 38- सुलतानपुर संसदीय निर्वाचन क्षेत्र हेतु भाजपा की प्रत्याशी मेनका संजय गाँधी, राष्ट्रीय इंसाफ पार्टी से हरीलाल, इण्डियन नेशनल कांग्रेस से डाॅ संजय सिंह, बसपा-सपा गठबंधन से चन्द्रभद्र सिंह, काशीराम बहुजन पार्टी से फिरोज अहमद, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया से कमला देवी, आम जनता पार्टी से मंजूलता पाल, भारत प्रभात पार्टी से नासिर अली, भारतीय हिन्द फौज से ऋषभ श्रीवास्तव, सोहेलदेव भारतीय समाज पार्टी से सुनीता राजभर, निर्दल से अबु उमैया, अखिलेश, वीरेन्द्र, मथुरा व राजकुमार, इस प्रकार कुल 15 प्रत्याशी के नामांकन जांचोपरान्त वैध पाये गये। उन्होंने बताया कि अपना देश पार्टी से अशोक कुमार, राष्ट्रीय डेमोक्रेटिव फ्रन्ट से डाॅ प्रदीप कुमार, सनातन संस्कृति रक्षा दल से पवन कुमार, सत्य शिखर पार्टी से राधेश्याम व निर्दल बृजेश कुमार, संतराम, अंजली कुमार व अमरेन्द्र बहादुर सिंह के नामांकन पत्र सहित कुल 08 नामांकन पत्र पूर्ण न होने के कारण निरस्त कर दिया गया।कलेक्ट्रेट स्थित नामांकन कक्ष में आयोग द्वारा नियुक्त सामान्य प्रेक्षक विनोद कुमार सिंह की उपस्थिति में नामांकन पत्रों की जांच पूर्वान्ह से प्रारम्भ हुई और सायं तक सघन जांच प्रत्येक नामांकन पत्रों की रिटर्निंग आॅफिसर व जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा की गयी। इस अवसर पर उप जिला निर्वाचन अधिकारी व अपर जिलाधिकारी (प्रशा) हर्ष देव पाण्डेय, सहायक रिटर्निंग आॅफिसर व उप जिलाधिकारी सदर रामजी लाल व सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी डाॅ राजेश कुमार सहित नायब तहसीलदार सदर राजेन्द्र प्रसाद त्रिपाठी व विभिन्न राजनैतिक व गैर राजनैतिक दलों के प्रत्याशी व पदाधिकारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.