शेरपुर में झगड़े के बाद घर के भीतर जले दम्पत्ति,दोनो की मौत-

0
547

ग्रामीणो ने कहा पहले पत्नी को जलाया फिर खुद के ऊपर तेल डालकर जला लिया

निगोहां।किराये के मकान में रह रहे असम के दम्पत्ति के बीच उपजे झगड़े के बाद संदिग्ध परिस्थितियों में आग से जलने की खबर फैलते ही पूरे इलाके में सनसनी मच गयी। और पत्नी की मौके पर ही मौत हो गयी,वहीं गम्भीर हालत में पति को पुलिस ने सीएचसी भेजा जहां से उसे सिविल अस्पताल में भर्ती करा दिया जहा इलाज के दौरान पति की भी मौत हो गई। जहा हालत नाजुक बनी हुई है।वही ग्रामीणो में चर्चा रही कि पहले पति ने पत्नी के ऊपर मिट्टी का तेल डालकर आग लगाई फिर खुद पर भी तेल डाल लिया।

एसओ निगोहां जगदीश पाण्डेय के मुताबिक दिनेश उर्फ़ आसामी 35 जो की असम राज्य के लखीमपुर कस्बे का रहने वाला है,जिसका विवाह 13 जनवरी 2013 को झारखण्ड के गुमला कस्बे की शांति के साथ असम के लखीमपुर कस्बे में स्थित कैथोलिक चर्च में हुआ था।उसके बाद से वह अपनी पत्नी शांति 33 व पुत्र विशाल 5,पुत्री माही 3 के साथ निगोहां के शेरपुरलवल गांव में बने पंचायत भवन के सामने  भुईयांदीन के मकान में लगभग 7 सालो से किराए पर रहता है।और पेशे से ट्रक चालक है।रविवार की सुबह लगभग 10:30 बजे आसामी के कमरे से तेज धुंआ निकलता देख पास-पड़ोस के लोग व इंजीनियरिंग कालेज के छात्र उसके घर पहुंचे,और दिनेश जलती हालत में कमरे के बाहर आ सड़क पर आ गया,और कुछ भी बोल नहीं पा रहा था,वापस कमरे की ओर फिर भगा,पीछे से पहुंचे छात्र व पड़ोसियों ने कमरे के अंदर का नजारा देख दंग रह गए।पड़ोसियों ने देखा की उसकी पत्नी धू-धू कर जल रही थी।साथ ही आस-पास पड़े बिस्तर भी जल रहे थे।कमरे में माचिस पड़ी थी,और कैरोसिन फैला पड़ा था,साथ ही तेज बदबू आ रही थी।मौके पर पहुंचे लोगो ने किसी तरह दोनों पर कपड़े व कंबल डालकर आग बुझाई व पुलिस को सूचना दी।आग में जलने से पत्नी ने मौके पर ही दम तोड़ दिया,वहीं सूचना पर पहुंची पुलिस ने पति को गम्भीरावस्था में सीएचसी मोहनलालगंज भेजा, जहाँ चिकित्सको ने हालत नाजुक बताते हुए सिविल अस्पताल रिफर कर दिया,जहाँ इलाज के दौरान पति की भी मौत हो गई।पुलिस ने बताया की मृतका के परिजनों को सूचना दे दी गयी है,आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है,और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

दोनों मासूमो को पड़ोसियों ने संभाला– 

हादसे से डरे सहमे दोनों मासूमो को पड़ोसियों ने अपने पास रखा,पूछने पर विशाल ने बताया कि मम्मी-पाप में झगड़ा हुआ था। और दोनो में सुबह से ही झगड़ा हो रहा था एक बार हम लोग घर के अंदर गये तो पापा ने डांट कर बाहर भगा दिया था।

एक घण्टे तक सीएचसी में जमीन पर तड़फता रहा दिनेश——— 

घटना के बाद ग्रामीणो ने 108 एम्बुलेंस को फोन किया पर नही आई इस पर एसओ ने आनन-फानन में एनचआई के एम्बुलेंस बुलाई और उसी से तड़फ रहे दिनेश को गांव के सुरेंद्र गुप्ता के साथ सीएचसी भेजा।यहां पर डाक्टर नर्स ने एक इंजेक्शन लगाकर ले जाने की सलाह दी इस पर जब साथ आये गांव के सुरेंद्र और सिपाही ने एम्बुलेंस से सम्पर्क किया तो उधर से गोसाइंगज की लोकेशन मिली तब तक दिनेश जमीन पर रखे स्टेचर पर तड़फता रहा।

एक महीने बाद घर लौटने के बाद से ही झगड़ा शुरू हुआ——–

आसपास के ग्रमीणों ने बताया कि जब से असम का दम्पति यहां आया था।तब से बहुत प्रेम से रह रहे थे।और इधर एक महीने पहले कही गये थे और वापस आने के बाद से ही दोनो के बीच मनमुटाव शुरु हुआ और रविवार को पहले दोनो के बीच झगड़ा शुरू हुआ।और घर से धुंआ उठने लगा।

रिपोर्ट अभय दीक्षित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.