पुलिस टीम पर हमला करने वाले 10 अभियुक्त हुए गिरफ्तार…..

0
381

रिपोर्ट कपिल तिवारी


सलोन रायबरेली l कोतवाली क्षेत्र के इटैली गांव में आम के बाग के बंटवारे को लेकर 2 दिन पूर्व हुए विवाद में आरोपियों की धरपकड़ के लिए गांव गई पुलिस टीम पर हमला करने वाले 11 लोगों के विरुद्ध संबंधित धाराओं में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया है गांव में शांति व्यवस्था के लिए पुलिस बल तैनात किया गया है क्षेत्र के इटैली गांव निवासी जगजीवन पांडे की पुत्री गुड़िया व शेषमणि पांडे के पुत्री नैंसी के बीच बीते रविवार को आम की बाग के बंटवारे को लेकर विवाद हुआ था जिसमें दोनों पक्षों के बीच मारपीट भी हुई थी इस मारपीट के मामले में पीड़ित शेषमल पांडे की पुत्री नैंसी ने कोतवाली पहुंचकर कोतवाली प्रभारी बृजमोहन को तहरीर दी तहरीर के आधार पर कोतवाली पुलिस मारपीट करने वाले 10 लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया नामजद लोगों को प्रभारी निरीक्षक ने कोतवाली बुलाया कोतवाली ना आने पर कोतवाली से लगभग एक दर्जन सिपाही व होमगार्ड को मौके पर भेजा गया था पुलिस आरोपियों के घर पहुंचते ही आरोपी मोबाइल से वीडियो बनाने लगे जिसमें पुलिस ने एतराज किया और कहां सुनी होने लगी कहासुनी इतनी बढ़ गई की आरोपी युवक व महिलाओं ने पुलिस टीम पर हमला बोल दिया और दौड़ा-दौड़ा कर पीटने लगे जिसमें सिपाही रामचंद्र वर्मा प्रवीण कुमार यादव समेत लगभग आधा दर्जन सिपाही व होमगार्ड पीटे गए मारपीट के दौरान सिपाहियों की बाइक भी क्षतिग्रस्त कर दी गई गांव में पुलिस टीम पर हमला करने की जानकारी पर प्रभारी निरीक्षक ब्रजमोहन भारी पुलिस बल के साथ गांव पहुंचकर आरोपियों को पकड़कर कोतवाली ले आए इस मामले में वादी रामचंद्र वर्मा हेड कांस्टेबल की तहरीर पर दोनों पक्ष से आरोपी श्री राम पांडे, सियाराम पांडे ,शालू पांडे, अविनाश तिवारी, सौरभ उर्फ सानू ,शुभम पांडे, शेषमणि पांडे, सुनील पांडे ,श्रीमती रेखा पांडे, नैंसी पांडे, आरती पांडे, समेत 11 नामजद वह दो अज्ञात लोगों के विरुद्ध पुलिस ने धारा 147 148 149 307 504 506 323 188 269 270 332 353 427 आईपीसी व 7 क्रिमिनल लॉ के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है प्रभारी निरीक्षक ब्रजमोहन ने बताया कि गांव में शांति व्यवस्था के लिए पुलिस बल तैनात किया गया है फिलहाल गांव में शांति बनी हुई है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.